• Home
  • >
  • जेइइ मेन का रैंक जारी : गया के अभिषेक बने स्टेट टॉपर, नालंदा के ऋषभ को दूसरा स्थान
  • Label

जेइइ मेन का रैंक जारी : गया के अभिषेक बने स्टेट टॉपर, नालंदा के ऋषभ को दूसरा स्थान

CityWeb News
Friday, 28 April 2017 01:17 PM
Views 1517

Share this on your social media network

पटना : जेइइ मेन में गया के अभिषेक कुमार स्टेट टॉपर बने हैं. उन्हें 301 अंक मिले हैं. उनका ऑल इंडिया रैंक 324वां है. वहीं नालंदा के ऋषभ रंजन 296 अंकों के साथ राज्य में सेकेंड टॉपर हैं. उनका रैंक 404वां है. पटना निवासी शिवम 295 अंकों के साथ तीसरे, अररिया निवासी फरहान अली 290 अंकों के साथ चौथे और गया के श्रेयश राज 280 अंकों के साथ पांचवें स्थान पर हैं. शिवम को 418वां, श्रेयश को 809 वां रैंक मिला है.
मालूम हो कि सीबीएसइ ने अभी िसर्फ पेपर नंबर एक का रिजल्ट घोषित किया है, िजसके आधार पर जेइइ एडवांस में प्रवेश मिलेगा.
2.21 लाख जेइइ एडवांस के लिए क्वालिफाइ : जेइइ मेन में 1.12 करोड़ परीक्षार्थी शामिल हुए थे. इनमें 2.21 लाख ने जेइइ एडवांस के लिए क्वालिफाइ की है. इनमें 1.75 लाख छात्र व 46,160 छात्राएं हैं. जेइइ मेन की ऑफलाइन परीक्षा दो अप्रैल को और ऑनलाइन आठ और नौ अप्रैल को हुई थी. देखें पेज 09 भी
नयी दिल्ली. सीबीएसइ ने गुरुवार को जेइइ मेन 2017 का रिजल्ट घोषित कर दिया. इसमें राजस्थान के उदयपुर के कल्पित वीरवल ने देश भर में टॉप किया है. कल्पित को 100 फीसदी नंबर (360 में 360) मिले हैं. पहली बार है कि जब किसी छात्र ने मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री में 120 में से पूरे 120 नंबर हासिल किये हैं.
वीरवल को उनकी इस उपलब्धि की जानकारी सीबीएसइ के चेयरपर्सन आरके चतुर्वेदी ने गुरुवार सुबह खुद फोन पर दी. कल्पित अपनी सफलता को लेकर आश्वस्त था, लेकिन सौ फीसदी नंबर आयेंगे, इसका उसे विश्वास नहीं था. उसने अपनी सफलता का राज बताया - कोचिंग व क्लास के अलावा हर दिन पांच-छह घंटे की पढ़ाई और पढ़ाई के दौरान सोशल साइट्स से दूरी. कल्पित ने बताया कि सभी उसे कोचिंग के लिए कोटा या हैदराबाद जाने की सलाह दे रहे थे. लेकिन, मैं पढ़ाई को बोझ की तरह नहीं लेना चाहता था.
मैं पढ़ाई को इंज्वॉय करना चाहता था. इसलिए मैंने उदयपुर में रहकर ही कोचिंग ज्वाइन करने का फैसला किया. कल्पित के पिता पुष्पेंद्र वीरवल सरकारी अस्पताल में कंपाउंडर और मां पुष्पा सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं. कल्पित के मुताबिक, उसकी सफलता के पीछे उसके माता - पिता भी हैं, जिन्होंने उसकी सेहत का हमेशा ख्याल रखा.
यही वजह है कि उसे कभी सदी-खांसी भी नहीं हुई. 12वीं बोर्ड के रिजल्ट का इंतजार कर रहे कल्पित ने कहा, मैं स्कूल और कोचिंग के अलावा मैं घर में भी पांच से छह घंटा पढ़ता था. अपनी इस सफलता पर 17 वर्षीय वीरवल ने कहा, 'मैं इस सामान्य तौर पर ले रहा हूं. अभी अगले महीने होने वाली जेइइ एडवांस की तैयारी पर फोकस कर रहा हूं.' कल्पित ने इसी साल 12वीं की परीक्षा एमडीएस पब्लिक स्कूल से प्राइवेट स्टूडेंट के तौर पर दी थी.
जेइइ मेन में दूसरा और तीसरा रैंक वासु जैन और अनन्ये अग्रवाल ने हासिल किया. दोनों दिल्ली के हैं. लड़कियों में शीर्ष रैंक वृंदा नंदकुमार राठी का रहा है. उन्होंने 321 अंक प्राप्त किये हैं.
उनका ओवर ऑल रैंक 71वां है. लड़कों ने शीर्ष हजार रैंक हासिल करने के मामले में लड़कियों को पीछे छोड़ दिया है. शीर्ष 1000 की सूची में 932 लड़के हैं. इसी तरह शीर्ष 5000 रैंक धारकों में 4534 लड़के हैं. लड़कियों में दूसरा और तीसरा स्थान क्रमश: पूर्वा गर्ग (स्कोर) 319, ओवरऑल रैंक (96) और नारायणा जीवना रेड्डी (स्कोर 318), ओवर ऑल रैंक (102) का रहा.

ताज़ा वीडियो


Prepare for Government Exams Free
BB Ki Vines- | Angry Masterji
More +

संबंधित ख़बरें

Copyright © 2010-16 All rights reserved by: City Web