• Home
  • >
  • मेघालय सेक्स रैकेट में उछला गृहमंत्री के बेटे का नाम, कई खुलासे
  • Label

मेघालय सेक्स रैकेट में उछला गृहमंत्री के बेटे का नाम, कई खुलासे

CityWeb News
Monday, 16 January 2017 12:35 PM
Views 6883

Share this on your social media network

मेघालय के शिलॉन्ग से सामने आए बड़े सेक्स रैकेट में कई खुलासे हो रहे हैं। पुलिस को शक है कि राज्य के गृह मंत्री एचडीआर लिंगदोह के बेटे ऑसबर्ट रमबेई द्वारा चलाए जा रहें गेस्ट हाउस मर्विलिन इन में सेक्स रैकेट चल रहा था। ये गेस्ट हाउस शिलॉन्ग स्थित रिलबॉन्ग की पॉश कॉलोनी में है।
बता दें कि पुलिस ने इस आरोप में राज्य के निर्दलीय विधायक किटबोक डोरफांग को गिरफ्तार किया था। दरअसल, राज्य में चल रहे सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ 16 दिसंबर को एक 14 साल की लड़की ने पुलिस को शिकायत करके किया था।
बाल अधिकार संरक्षण के मेघालय राज्य आयोग की अध्यक्ष मीना खारखोंगगोर ने बताया कि अबतक इस मामले में सात एफआईआर दर्ज की जा चुकी है।
एक सेक्स रैकेट के चंगुल से छुड़ाई गई पीड़िता की ओर से और बाकी छह एनजीओ की ओर से की गई हैं। ये सभी एफआईआर गेस्ट हाउस के मालिक, प्रोपेराइटर और मैनेजमेंट के खिलाफ की गई है।
ग्राहकों को खुश करने के लिए ले जाया जाता गेस्ट हाउस में
पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि उसे गेस्ट हाउस में ग्राहकों को खुश करने के लिए ले जाया जाता था। उसने आरोप लगाया कि विधायक डोरफांग ने उसके साथ दो बार रेप किया। पहले उसने मोतीनगर इलाके के गेस्ट हाउस में तो दूसरी बार इलाके उमियाम में किया। इस मामले में 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसमें गेस्ट हाउस का एक वेटर भी शामिल है।
लड़की के मुताबिक वही वेटर उस उसे कमरे में एक शख्स मदान बहादुर के पास ले गया था, जिसने उसका रेप किया। पुलिस ने मदान बहादुर और वेटर डेब्बारमन को गिरफ्तार कर लिया है। इसी शक पर पुलिस जांच कर रही है कि इस पूरी वारदात में गेस्ट हाउस के मालिक शामिल हैं या नहीं।
हालांकि, अपने ऊपर आरोप लगने के बाद रमबई ने कहा कि वे इस बारे कुछ नहीं जानते हैं, हालांकि उन्हें जानकारी मिली की गेस्ट हाउस के वेटर को इस आरोप में गिरफ्तार किया गया है।
धोखा देकर शिलॉन्ग लाया गया फिर किया गया रेप
लड़की ने अपनी आप बीती में बताया कि मां के देहांत के बाद पिता ने दूसरी शादी कर ली। तभी रेनू बोरा नाम की महिला उसे मां-बाप से बेहतर परविश के वादे से अपने साथ शिलॉन्ग ले आई। यहां उसने माओनी प्रवीण और उसके पति संदीप बिसवा को बेटी के रूप में पीड़िता को सौंप दिया।
कुछ दिनों तक तो सब ठीक चला लेकिन दपंत्ति ने उसे ग्राहकों के साथ सोने पर मजबूर करना शुरू कर दिया। 15 दिसंबर के दिन भी उसे गेस्ट हाउस में वे ही छोड़ कर गए। अपने साथ ऐसा होने पर बच्ची मां-बाप प्रवीण और बिसवा को पुकारने लगी, लेकिन वहां उसकी सुनने वाला कोई नहीं था।
बता दें कि पुलिस ने डेब्बारमन को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि अपने बेटे का नाम बीच में आने से गृह मंत्री बयान देते हुए बच रहे हैं। लेकिन विपक्षी दलों की ओर से उनके इस्तीफे की मांग लगातार की जा रही है।

ताज़ा वीडियो


PM Narendra Modi Rally in Saharanpur
Ratio and Proportion (Part-1)
More +

संबंधित ख़बरें

Copyright © 2010-16 All rights reserved by: City Web